UA-37077090-1 True Hindi Love Story : The Day I Noticed Manish

HINDI LOVE STORY

Best Collection of Hindi love Story | हिंदी कहानी | Hindi Story | Stories in Hindi | Hindi Love Stories | Love Stories in Hindi




True Hindi Love Story : The Day I Noticed Manish


True Hindi Love Story : The Day I Noticed Manish

(आप यह स्टोरी नीचे हिन्दी फ़ॉन्ट में भी पढ़ सकते हैं)

Friends aj main ap se apni ek true love story share kar rahi hun . mera nam Sonia hai aur main delhi mein rahti hun .

Us din kafi  tej barish ho rahi thi, aur mausam bhi bahut achchha tha, mujhe barish mein bheegna bahut pasand hai par us din main barish mein nahi bheegi . kyunki us din maine pahli baar Manish ko dekha tha.

Manish jo mere school mein new student tha aur  mujhse senior  class mein tha , us din main usse pahli baar mili thi, aur hamara milna bhi bilkul vaisa hi tha jaisa maine movies mein dekha tha. Us din barish kafi tej ho rahi thi aur manish barish mein kafi bheega hua tha. vo apni class mein ja raha tha . par pata nahi kyun mujhe manish itna achchha lag raha tha us din. Vo ek dam greek Gods jaisa tha. Gora, lamba aur ekahre badan ka ek dam Hritik Roshan jaisa dikh raha tha. Mujhe ladko par kabhi bhi koi intrest nahi tha par us din na jane Manish ko dekh kar mujhe kya ho gaya tha. Meri heartbeats kafi tej ho gayi thi, usne bhi mujhe dekha par dekh kar ignore kar diya. Tabhi mujhe ek awaj sunai di…

 

Sonia…??

Meri dost Prachi ne mujhe awaj di

Tumhara dhyan kahan hai Sonia..?? (Shayad vo mujhe notice kar rahi thi), khair uske bad main aur meri  dost Prachi donon apni class mein chale gaye.


Par agle hi din jab main suabh school pauchi to mujhe Manish phir se dikha. use dekh main man hi man khush ho gayi thi . Tabhi Manish mere pass aaya aur usne mujhse time pucha . Wow uski awaj mein kuchh jadu sa tha. main to thodi der ke liye jaise chup hi ho gayi thi. usne dubara time pucha to maine usse kaha ki abhi 7.05 am ho rahe hain . (class shuru hone mein abhi 20 minutes baki the).

Tabhi Manish ne mujhse kaha ki kya 20 min tak main yahin par tumhare sath class shuru hone ka wait kar lun ? mujhe to achchha lag raha tha isliye maine usse han kah di.

Phir ham donon ne wahan par kafii der baten ki aur kafi kuchh share bhi kiya. vo mujhse senior class mein tha uski age  18 years thi aur  meri 16 years.  aur us din ke bad se ham donon kafi achche dost ban gaye aur roj kafi baten karne lage . Lunch time mein bhi sath rahte aur baten karte. ham donon ke ghar ek hi colony mein the to ham donon ek sath school aate aur jate the .

Hamare school mein junior class ki ladki ka senior class ke ladke ke sath ghumna ya rahna pasand nahi kiya jata tha par Manish ne kabhi bhi is bat par dhyan nahi diya. because he didn’t care about others aur yah bat mujhe bahut achchi lagti thi. Khair isi tarah ham milte rahe aur kafi mahine beet gaye aur manish ke liye meri feelings aur bhi strong ho gayi. shayad main manish se pyar karne lagi thi aur ab main usse yah sab kahna chahti thi . phir ek din ham donon ek park mein ghumne gaye aur tabhi maine manish se kaha ki …. “ main tumko  kuchh puchna chahti hun ?

Maine  manish se pucha ki , agar usko koi pasand ho to vo kya karega .? usko apni feeling batayega ya nahi ?

To yah sunakr manish thodi der ke liye chup ho gaya aur phir usne kaha ki main bhi isi sawal ka answer dhund raha hun aur main khud bhi confusion mein hun.  tab mujhe laga ki shayad manish apni class ki kisi aur ladki ko pasand karta hai kyunki main to usse kafi junior thi . aur phir vo mera  hath pakad kar mujhe park ki dusri side mein lekar gaya jahan uski class ki kuchh ladkiyan apas mein kuchh baten kar rahi thi . manish ne mujhse kaha ki unmein se vo kisi ko bhi pasand nahi karta kyunki vo mujhe pasand karne laga hai aur shayad yahi uska pyar bhi hai .

Aur phir manish ne mujhse pucha ki kya tum bhi mujhe pasand karti ho to thodi der ke liye mere kuchh samajh hi nahi aa paya kyunki mujhe vishwas hi nahi ho raha tha ki manish ko mere dil ki bat kaise pata chali. khair maine bhi manish se apne dil ki bat kah di ki main bhi use bahut pyar karti hun . aur us din se manish aur meri love relationship start hui. we are still together and love each other very much .

 

ट्रू हिन्दी लोवे स्टोरी : थे दे ई नोटीस्ड
फ्रेंड्स आज मैं आप से अपनी एक ट्रू  लव स्टोरी  शेयर कर रही हूँ . मेरा नाम सोनिया है और मैं देल्ही में रहती हूँ .
उस दिन काफ़ी  तेज बारिश हो रही थी, और मौसम भी बहुत अच्छा  था, मुझे बारिश में भीगना बहुत पसंद है पर उस दिन मैं बारिश में नही भीगी . क्यूंकी उस दिन मैने पहली बार मनीष को देखा था.
मनीष जो मेरे स्कूल में न्यू स्टूडेंट था और  मुझसे सीनियर  क्लास में था , उस दिन मैं उससे पहली बार मिली थी, और हमारा मिलना भी बिल्कुल वैसा ही था जैसा मैने मूवीस में देखा था. उस दिन बारिश काफ़ी तेज हो रही थी और मनीष बारिश में काफ़ी भीगा हुआ था. वो अपनी क्लास में जा रहा था . पर पता नही क्यूँ मुझे मनीष इतना अच्छा  लग रहा था उस दिन. वो एक दम ग्रीक गॉड्स जैसा था. गोरा, लंबा और एकहरे बदन का एक दम हृतिक रोशन जैसा दिख रहा था. मुझे लड़को पर कभी भी कोई इंटरेस्ट नही था पर उस दिन ना जाने मनीष को देख कर मुझे क्या हो गया था. मेरी हार्टबीट्स काफ़ी तेज हो गयी थी, उसने भी मुझे देखा पर देख कर इग्नोर कर दिया. तभी मुझे एक आवाज़ सुनाई दी…
सोनिया…??
मेरी दोस्त प्राची ने मुझे आवाज़ दी
तुम्हारा ध्यान कहाँ है सोनिया..?? (शायद वो मुझे नोटीस कर रही थी), खैर उसके बाद मैं और मेरी  दोस्त प्राची दोनों अपनी क्लास में चले गये.
     पर अगले ही दिन जब मैं सुबह  स्कूल पहुंची तो मुझे मनीष फिर से दिखा. उसे देख मैं मन ही मन खुश हो गयी थी . तभी मनीष मेरे पास आया और उसने मुझसे टाइम पूछा . वाउ उसकी आवाज़ में कुच्छ जादू सा था. मैं तो थोड़ी देर के लिए जैसे चुप ही हो गयी थी. उसने दुबारा टाइम पूछा तो मैने उससे कहा की अभी 7.05  हो रहे हैं . (क्लास शुरू होने में अभी 20 मिनिट्स बाकी थे).
तभी मनीष ने मुझसे कहा की क्या 20 मीं तक मैं यहीं पर तुम्हारे साथ क्लास शुरू होने का वेट कर लूँ ? मुझे तो अच्च्छा लग रहा था इसलिए मैने उससे हाँ कह दी.
फिर हम दोनों ने वहाँ पर काफी  देर बातें की और काफ़ी कुच्छ शेयर  भी किया. वो मुझसे सीनियर क्लास में था उसकी आगे  18 साल थी और  मेरी 16. और उस दिन के बाद से हम दोनों काफ़ी अच्छे दोस्त बन गये और रोज काफ़ी बातें करने लगे . लंच टाइम में भी साथ रहते और बातें करते. हम दोनों के घर एक ही कॉलोनी में थे तो हम दोनों एक साथ स्कूल आते और जाते।
हमारे स्कूल में जूनियर क्लास की लड़की का सीनियर क्लास के लड़के के साथ घूमना या रहना पसंद नही किया जाता था पर मनीष ने कभी भी इस बात पर ध्यान नही दिया. यह बात मुझे बहुत अच्छी लगती थी. खैर इसी तरह हम मिलते रहे और काफ़ी महीने बीत  गये और मनीष के लिए मेरी फीलिंग्स और भी स्ट्रॉंग हो गयी. शायद मैं मनीष से प्यार करने लगी थी और अब मैं उससे यह सब कहना चाहती थी . फिर एक दिन हम दोनों एक पार्क में घूमने गये और तभी मैने मनीष से कहा की …. “ मैं तुमको  कुच्छ पूछना चाहती हूँ ?
मैने  मनीष से पूछा की , अगर उसको कोई पसंद हो तो वो क्या करेगा .? उसको अपनी फीलिंग बताएगा या नही ?
तो यह सुनक्र मनीष थोड़ी देर के लिए चुप हो गया और फिर उसने कहा की मैं भी इसी सवाल का आन्सर ढूंढ रहा हूँ और मैं खुद भी कन्फ्यूजन में हूँ.  तब मुझे लगा की शायद मनीष अपनी क्लास की किसी और लड़की को पसंद करता है क्यूंकी मैं तो उससे काफ़ी जूनियर थी . और फिर वो मेरा  हाथ पकड़ कर मुझे पार्क की दूसरी साइड में लेकर गया जहाँ उसकी क्लास की कुछ  लड़कियाँ आपस में बातें कर रही थी . मनीष ने मुझसे कहा की उनमें से वो किसी को भी पसंद नही करता क्यूंकी वो मुझे पसंद करने लगा है और शायद यही उसका प्यार भी है .
और फिर मनीष ने मुझसे पूछा की क्या तुम भी मुझे पसंद करती हो तो थोड़ी देर के लिए मेरी कुछ समझ ही नही आ पाया क्यूंकी मुझे विश्वास ही नही हो रहा था की मनीष को मेरे दिल की बात कैसे पता चली. खैर मैने भी मनीष से अपने दिल की बात कह दी की मैं भी उसे बहुत प्यार करती हूँ . और उस दिन से मनीष और मेरी लव  रिलेशन्शिप  स्टार्ट हुई. हम आज भी साथ साथ हैं और एक दुसरे से बहुत प्यार  करते हैं।

(Visited 1,152 times, 1 visits today)
Updated: June 17, 2013 — 2:40 pm

4 Comments

Add a Comment
  1. Me Manish ko bahut pyar karti hu kash bhagwan Hume kabhi alag na kare I really love him

  2. I love you manish

  3. I have been so beeedlwrid in the past but now it all makes sense!

  4. very nice story i like love story like this.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HINDI LOVE STORY © 2014 Frontier Theme