UA-37077090-1 Meri Love story Puri ban nahi pai मेरी अधूरी कहानी

HINDI LOVE STORY

Best Collection of Hindi love Story | हिंदी कहानी | Hindi Story | Stories in Hindi | Hindi Love Stories | Love Stories in Hindi




Meri Love story Puri ban nahi pai मेरी अधूरी कहानी


Meri Love story Puri ban nahi pai मेरी अधूरी कहानी

हेलो फ्रेंड्स, मेरा नाम हिमानी है. मैं आपको अपनी  real love story   शेयर  कर रही हूँ. वेट, ये दर असल मेरी स्टोरी भर है, क्यूंकि love story स्टोरी ये शायद बन नही पाई……!!

मुझे याद है जब मैं 18 साल की थी मेरा क्लास 12 का रिज़ल्ट आया जिसमें मेरे मार्क्स अच्छे नही थे, घर में भी काफ़ी टेंशन रहता था।  पापा और मम्मी की भी काफ़ी लड़ाई होती थी। मैं अपने आप को काफ़ी अकेला महसूस करती थी। मुझे हमेशा ऐसा लगता था की मेरी केयर करने वाला कोई नही है…

मुझे याद है वो 12  अगस्त का दिन जिस दिन मैं पहली बार राज से मिली थी। मैं राज से पहली बार अपने जिम में मिली थी. राज एक दम हृतिक रोशन जैसा दिख रहा था. वो गोरा, लंबा और  इकहरे बदन का  लड़का था, उसका फिज़ीक बहुत ही ज्यादा अट्रॅक्टिव था…!!

मैं अक्सर जिम अपनी  टेंशन से दूर रहने के लिए  जाया करती थी, जहाँ मेरे काफ़ी दोस्त भी बन गये थे। मैने  राज से काफ़ी बार बात करने की कोशिश भी की पर कभी हिम्मत ही नही हो पाई। राज भी मुझे देखता रहता था पर उसने भी कभी कुछ नहीकहा एक दिन जब जिम का अक्वा गार्ड  खराब हो गया था और मैं पीने के लिए पानी ढूंड रही थी तो राज मेरे लिए पानी लेकर आया और उस दिन हमने पहली बार बात की. शायद राज भी मुझे पसंद करता था ..

खैर, उस दिन से हम रोज बातें करने लगे। एक दिन हमारी जिम में पार्टी थी जहाँ मैने  और राज ने बैठ कर काफ़ी बातें शेयर की और इस तरह अब हम काफ़ी अच्छे दोस्त बन गये और काफ़ी बातें करने लगे, और राज ने मुझसे कहा भी कि वो मुझे पसंद करता है। पसंद तो मैं भी उसको करती थी पर उस समय मैं  कुछ बोल नही पाई….


एक दिन जिम में वर्क आउट करते समय मैं पता नही कैसे बेहोश हो गयी। जब मेरी आँख खुली तो मैं हॉस्पिटल में थी जहाँ मुझे राज ही लेकर आया था. वो डॉक्टर से कुछ बात कर रहा था. शायद डॉक्टर ने उससे कहा की मुझे ब्लड की ज़रूरत है और उसने देने से मना कर दिया. उस समय मैं  कुछ समझ नही पाई. जब मैने   कुछ दिन बाद राज से उसके ब्लड ना देने का रीज़न  पूछा तो उसने मुझे यह कह कर बताने से मना कर दिया की यह उसकी लाइफ है और यह उसकी मर्ज़ी है कि  वो किसी को ब्लड दे या नही.  मुझे यह सुनकर  थोडा बुरा तो लगा पर मैं अभी भी राज से प्यार करती थी इसलिए मैने  इग्नोर कर दिया.  कुछ दिनों बाद मैने  जिम जाना  छोड़ दिया और अब मेरी और राज की बातें  ज्यादा नही हो  पाती थी  क्यूंकि  अब हम कम ही मिल पाते थे.

एक दिन जब मैं अपने मम्मी पापा के साथ कार से कहीं जा रही थी तो हमने रास्ते में एक एक्सीडेंट देखा और अनफॉर्चुनेट्ली वो  एक्सीडेंट राज का ही हुआ था. राज को उस हालत मैं देख कर मैं काफ़ी दुखी हो गयी. खैर हम उसको वहाँ से हॉस्पिटल ले गये जहाँ  5 घंटे के ऑपरेशन के  बाद राज को डॉक्टर्स ने बचा लिया. अगले ही दिन मैं दुबारा राज से मिलने हॉस्पिटल गयी. राज अपने बेड पर लेटा हुआ था. मुझे देख कर उसने मुझे एक गोल्डन रिंग दी और  कुछ  कहा।  शायद उसने मुझे ” आई  लव यू  ” कहा था. मैं काफ़ी खुश थी उस दिन राज से मिल कर…

अगले दिन उस हॉस्पिटल से मेरे घर पर फोन आया और डॉक्टर्स ने कहा की ‘राज कीडेथ हो गयी है  क्यूंकि उसका ब्लड इन्फेक्टेड था, जिस के कारण उसकी पूरी बॉडी में इन्फेक्शन हो गया था, राज की  डेथ के बारें में सुन कर मैं पागल से हो गयी थी. मुझे यकीन नही हो रहा था  कि राज मुझे  छोड़ कर चला गया है.

आज राज मेरा पास नही है पर मुझे उसके साथ जिम में बिताए हुए वो  कुछ दिन हमेशा याद रहेंगे. राज तो हमेशा के  लिए  चला गया पर उसका प्यार हमेशा मेरे साथ रहेगा ……!!

आई लव यूं  राज….!!


(Visited 2,862 times, 1 visits today)
Updated: September 21, 2016 — 11:52 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HINDI LOVE STORY © 2014 Frontier Theme