UA-37077090-1 मैं आज भी उस से उतना ही प्यार करता हू -Hindi Love Story

HINDI LOVE STORY

Best Collection of Hindi love Story | हिंदी कहानी | Hindi Story | Stories in Hindi | Hindi Love Stories | Love Stories in Hindi




मैं आज भी उस से उतना ही प्यार करता हू -Hindi Love Story


मैं आज भी उस से उतना ही प्यार करता हू  -Hindi Love Story

हाय …….फ्रेंड्स मेरा नाम संजय सिंह है. मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैं अपनी गर्ल फ्रेंड को अभी भी याद करता हूँ और हर पल ये कह के याद करता हूँ कि आई स्टिल मिस यू .

Read this story in roman english font

मेरी सैड स्टोरी स्टार्ट होती है ऑगस्ट 2004 मे. मैं उस टाइम 9 मे पढ़ता था और 1 नॅशनल लेवेल एथलीट था. उस साल हमारे स्कूल मे बहुत सारे एडमिशन हुए जिनमे से 1 लड़की का नाम था सुनीता जो हमारे स्कूल की सबसे खूबसूरत लड़की थी. सारे लड़के उसके पीछे पहले दिन से ही पागल थे. पूरे स्कूल मे उसकी चर्चा होने लगी, तब तक मैने उसे सिर्फ़ 1 या 2 बार देखा था. ज्ब मैने उसे अगली बार देखा तो अपने दोस्तो से ब्स ऐसे ही मज़ाक मे कहा कि भाई बहुत मस्त है यार पट जाए तो लाइफ बन जाए . उसके बाद मैने कोई ध्यान नई दिया पर मेरे दोस्तो ने उस बात को काफ़ी सीरियस्ली ले लिया और सुनीता तक ये बात पहुच गई उसके कुछ दिनों बाद मेरे 1 दोस्त ने आ कर मुझसे कहा कि सुनीता तुम्हे बुला रही है.

1 सेकेंड के लिए मैं शॉक्ड हो गया और डर गया कि यार मैने तो कुछ किया भी नई फिर क्यू बुला रही है. तब मैं उससे मिलने गया लाइब्ररी मे वहां उसकी फ्रेंड्स और वो खड़ी थी.उनलोगो ने मुझे बताया कि वो मुझे लाइक करती है बट बोलने से डर रही है क्यूंकी मैं थोड़ा राउडी टाइप था. 1 सेकेंड के लिए मैं बिल्कुल शॉक्ड हो गया उसके बाद मैं वहां से चला गया. मैने उसकी 1 फ्रेंड से उसका नंबर लिया और शाम को घर पहुच क उसको कॉल किया. तब जा के पहली बार मेरी उस से बात हुई. दोनो बहुत घबराए हुए थे क्योंकि पहली बार एक दूसरे से बात कर रहे थे. उसके नेक्स्ट दिन ही मुझे ईस्ट ज़ोन का गेम खेलने कोलकाता जाना था. तो मैने सुबह उस से मिलने का प्लान किया उसे 6 बजे उसके बस स्टॉप पे उसका वेट करने लगा. कुछ देर क बाद वो आई तब उस से मिल क मैं कहां से चला गया…….

मैं बहुत खुश था और उधर कोलकाता मे मैने अंडर 16 ग्रूप मे 2 गोल्ड मेडेल और 1 सिल्वर मेडल क साथ चॅंपियन्षिप जीती. जब मैं वापस लौट क आया तो मैं सब से पहले उस से ही मिलना चाहता था और मैं सीधा स्कूल पहुच गया. उस से मिला और खूब सारी बातें हुए. उसके बाद टूशन क टाइम डेली मिलना और खूब मस्ती करना हमारा शेड्यूल बन गया… ह्म डेली ऐसा करते.. लाइफ बहुत सही कट रही थी… तभी ही अचानक मेरा एक्सीडेंट हो गया और मैं बहुत बुरी तरह घायल हो गया. उस आक्सिडेंट की वजह से मैं 10 महीने क लिए हॉस्पिटलाइज़्ड हो गया. और उन 10 महीनो मे मैं बैठ भी नहीं पाता था सिर्फ़ लेटा रहता था. इन 10 महीनो मे ह्म सिर्फ़ फोन पर बात करते थे और वो 1 बार मुझसे मिलने मेरे घर आई तब मैने उसे अपने पेरेंट्स से मिलवाया.


वो बहुत रो रही थी. मुझे बहुत बुरा लग रहा था. धीरे धीरे ये 10 महीने भी गुज़र गये और मैं ठीक हो गया. लेकिन इस आक्सिडेंट की वजह से मेरा पूरा चेहरा बिगड़ गया. तब मैं उस से मिलने उसके टूशन गया जहा मुझे देख क वो बहुत खुश हो गई. और ह्म लोग पहले की तरह फिर से रहने लगे. उसके बाद हमारी बोर्ड एग्ज़ॅम आ गई और ह्म पढ़ाई मे लग गये. एग्ज़ॅम ओवर होने क बाद ना स्कूल था ना टूशन तो मिलना बहुत मुश्किल हो गया और मैं हमेशा उसके मोहल्ले मे जाता था इस वजह से वहां क लोगो ने मुझे धमकाना स्टार्ट कर दिया और जब मैं अगली बार गया तो मुझे बहुत मारा.और वो वही खड़ी खड़ी रो रही थी. बट मैं हंस रहा थे ये सोच कर कि अगर मैने उसे शो किया कि मुझे ज्यादा मार पड़ी है तो उसे बहुत बुरा लगेगा. उसके बाद हुमारा रिज़ल्ट आया और मुझे 87% मार्क्स आए जिस वजह से मेरा एडमिशन जमशेदपुर मे हो गया पर उसके पेरेंट्स ने उसे आने नहीं दिया तो सिर्फ़ मैं जमशेदपुर आ गया और वो वही रह गई.. ह्म रोज़ फोन प्र बात करते थे. रोज़ कम से कम चार से पांच घंटे और ऐसे ही लाइफ गुज़र रही थी कि अचानक……

उसका फोन वेटिंग आना स्टार्ट हो गया, और बहुत देर देर तक बिज़ी रहने लगा उसका फोन और कारण पूछने पर बोलती कि कॉलेज की फ्रेंड से बात कर रही थी…. ऐसा 2-3 महीने तक चला उसके बाद मैने उस से मिलने का प्लान किया और मैं घर आ गया. और उसे बिना बताए उसके कॉलेज चला गया जहा मैने उसे 1 ऋषि नाम क लड़के क साथ किस करते हुए देखा. बट मैने कुछ नहीं कहा और मैं वहां से वापस आ गया . मैं बहुत रो रहा था और मुझे बहुत बुरा लग रहा था वो सीन याद कर कर के . तब शाम को मैने उसे फोन किया और बहुत प्यार से बात किया. उसे पता भी नहीं चलने दिया कि मैने उसे आज देखा है….. बट बात करते करते मैं अचानक बहुत ज़ोर से रोने लगा तब उसने पूछा कि क्या हुआ क्यू रो रहे हो….. कि मैने उसे पूरी बात बताई. तब तो उसने कुछ नई कहा बस चुप हो क फोन डिसकनेक्ट कर दिया.

अगले दिन फिर मैं कॉलेज गया और उस से मिला तो वो मेरे उपर चिल्लाने लगी ओर बोली कि तूने अपना चेहरा देखा है कभी, तुम्हे क्या लगता है कि मैं तेरे जैसे लड़के से प्यार करूँगी?? अपने औकात मे रह क लड़की पटानी चाहिए ….और बहुत कुछ बोली…. और मैं चुप चाप गर्दन झुका क रो रहा था…. और यही सोच रहा था कि यार क्या प्यार का मतलब् यही होता है? और अगर ये होता है तो मैं कभी किसी लड़की से प्यार नई करूँगा…. और मैने उसके सिर पर हाथ रखा और कहा कि सुनीता मैने हमेशा तुमसे प्यार किया है और हमेशा करता रहूँगा… तुम जहाँ भी और जिसके भी साथ रहो, हमेशा खुश रहना…. और वहां से चला आया…..

और उस दिन को बीते हुए 4 साल हो गये है लेकिन मैं आज भी उस से उतना ही प्यार करता हू और मेरे लाइफ मे कोई लड़की नहीं है…..

और लास्ट मे बस इतना ही कहूँगा कि ”तेरे जाने का असर कुछ ऐसा हुआ मुझ पर, कि तुझे ढूंढते ढूंढते मैने खुद को खो दिया”…….. स्टिल लव यू सुनीता…….

स्टोरी बाइ संजय


(Visited 11,126 times, 1 visits today)
Updated: September 21, 2016 — 11:52 pm

18 Comments

Add a Comment
  1. YAR IN LADKIO PAR KABHI BAROSA MAT KARO BACUASE YE PYAR DIL SE NAHI DIMAK SE KARTE HAI

  2. pyar me dard bhi pyara hota hai yaar

  3. so sad ……..

  4. nyc but very sad Bro

  5. chandraprakash sahu

    Pyar me akasar yesa hi hota hai mere yaar kabhi ladka ko rona padhta hai to kabhi ladki ko.

  6. Ye story padh kr rona a gya becoz mene jise pyar kiya pahle to pyar krta tha bt mera face thoda sa jl gya usne bhi mujhe bhut sunaya me roti hui ghar ai mene susaid krna chaha bt bach gai bt mene uske alawa apni life me kisi ko n laya god kre sbko sacha love mile:'(

  7. yaar kya batau aksar aisa hi hota hai ki ladkiyan unhe chhod deti hai jo unhe sabse jyada pyar karta ha,aur sacche pyar karne wale aapki tarh wait karte rahte hain,mujhe lagta hai ki aapko bhi aage badh jana chahiye mai janta hun ki aapko isse paresani hogi par aapke liye yahi sahi hoga aisa mai manta hun.

  8. tujhe pa na ske phir b sari zindagi
    tujhe pyar krenge……….
    Jaan….
    Yu jaruri to ni jo na mil ske use chor
    diya jaye

  9. Brother.7 mai to itna janta hun ki ladkiyon ko koi nhi samajh sakta bewafai khud karti hain aur dos hun boys ko deti h

  10. bhai jo tere sath hua agr mere sath ho to yr marr hi jau yr ….
    Wo ladki bevakuf h jo tere pyr ko ni smjhti use ni pta kisi ldke ka aakhri pyr hona kya hota h

  11. Yrrr sch bt toh yeh h ki bhut km ldkiyaa pyr ko smjhti h .m khud ek ldki h ke kh rh huuu……..aurrr pyrrr sach m andhaa hta hh useee bhut km lg smjh ya pa pate h

  12. bhai ,,,,ek bat bolo to kuch aaise hi h meri bi sotry ,,,, mgr ye sach h ki ladki yo se sacha pairy kar ne ab dar lagta h ,,,muje ,,, aaj hmara brekup huwe ded sal ho chuke h or , mai usse aaj bi yaad kr ta hu ,,, pata nhi wo bi yaad krti hai ya nhi mgr sali ,,ka naam or sakl ,,,or uska no… Dimag se jata hi nhi ,,,,,,,

  13. yr galti teri nhi h.long distance relshp jayda nhi chal pati. u knw bro jo kuch din phle meri Frnds mujhe smjha rhi thi aaj me o tujhe bol rha hu.i knw use bhulna easy nhi h..bcoz mene bhi love kiya h.but jayse me try kr rha hu.ti bhi kr bhul jaa.aur life me aur aa jaygi sayad usse best.

  14. Pyar karo to pahle use jaan lo na to pyar ka dard zindagi bhar satayega.

  15. yrrrrr tune toh rulaaa dia sach mee tu bht acha bnda h agar possible hona yr toh ek br mjhse bt krio sach me m tere se ek br bt krna chahti huuu plzzzzzz

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

HINDI LOVE STORY © 2014 Frontier Theme