HINDI LOVE STORY

Best Collection of Hindi love Story | हिंदी कहानी | Hindi Story | Stories in Hindi | Hindi Love Stories | Love Stories in Hindi

Hindu Ladka Muslim Ladki Love story हिन्दू लड़का मुस्लिम लड़की प्यार की कहानी


Hindu Ladka Muslim Ladki Love story

Hello friends mera naam Manish hain, main apko apni love story batane se pahle ek sawal puchna chahta hu ki kya koi hindu ladka kisi musleem ladki se pyar nahi kar sakta kya?

इस स्टोरी को हिन्दी में पढ़ने के लिए क्लिक करें

Aaj main apne real love story aapke sath share karna chahta hun, main pahle computer classes jaya karta tha waha meri ek ladki jiska naam “Abeda” tha usse mulakat ho gayi wo bhi computer classes aaya karte thi aur wo musleem thi aur main hindu lekin bina kise bhed-bhav ke maine usse dosti kar li aur ham dono ache friend ban gaye aur ek dusare ki care bhi karne lage,

time bitataa gaya aur ham ek dusare ko pasand karne lage, fir pahle maine ek din use apne dil ki baat batayi aur pata chala ki wo bhi mujhse pyar karne lagi thi aaj hamare relationship ko kareeb 5 saal ho chuke hain aur main MBA complete kar chuka hun, ham dono (main aur Abeda) alag-alag religion ke hain to problems to aanee hee thi hamein ye pata tha lekin fir bhi humne apna faisla  kabhi nahi badla kyunki na main uske bina rah sakta hu aur na wo mere bina rah sakti hai.

mere ghar walo ko ye relationship kabhi manjoor nahi hoga ye baat mujhe pata hain isleye maine abhi tak apne ghar walo ko ye baat nahin batayi aur Abeda ke ghar walo ko bhi hamare relationship ke bare mein nahin pata tha. ham dono ko ye pata hai ki hamare ghar wale kabhi ek nahi ho sakte fir bhi hamne kabhi bhi aise koi kosish nahi ki jisse un logo ko hurt ho, bahut se couple aise condition mein ghar se bhaag jate hain lekin hamara pyar itna kamjoor nahi ki aise harkate kar ke apne pyar ko kamjoor sabit kare, vaise to ham dono ko duniya se koi matlab nahi hai lekin apne ghar walon se bhi hamein pyar hain unke maan-samman ki bhi kadar hain isleye kabhi bhi aise harkat nahi ki.

lekin ek din uske ghar walo ko hamare is relationship ke bare mein pata chal hee gaya aur unhone mujhe apne ghar bulaya aur dono (mujhe aur Abeda) ko khoob danta aur na milne ko kaha, usi din mera MBA ka exam bhi tha fir bhi maine jyada importance uske gharwalo ko di. us din Abeda khoob roi aur mere ankhon mein bhi anshu apne aap bahne lage ham dono bahut helpless sa mahsoos kar rahe the. main chah kar bhi uske anshu poch nahi paya bahut bura laga.

mujhe wo promise jo maine usse kiya tha ki main tumhein hamesha khush rakhunga chahe kuch bhi ho jaye jaise mano toot sa gaya ho. wo mere life ka sabse bura din tha, us din ke baad jab ham mile to use dekh kar meri ankho se pata nahin kyun aansu jhalakne lage aur use dekh kar bahut pyar aaya, daya bhi, fir maine use jor se gale laga liya aur uske hath chumne laga aur usse hath jod kar mafi mangne laga ke Abeda mujhe please maaf kar do us din chah kar bhi main tumhein sambhal nahi saka, itne main wo bhi rone lagee aur maine use fir gale laga liya,

hum dono ek dusare se itna pyar karte the ki jab mere MBA ke exam chalte the wo bhi mere sath raat raat tak jaga karti thi aur bola karti thi ki jab tum jag sakte ho to fir tumhare liye main bhi jaag sakti hun. yaha tak ki ham dono har wo kaam ek jaisa karte the jo ek common couples nahi kar sakte the jaise ki main agar blue kapde pahanta to wo bhi us din kuch na kuch blue pahna kartee thi mana ye reel life mein dekhne ko milta hain lekin ye mere real life mein hai. kabhi-kabhi mujhe lagta tha ki main use jyada pyar karta hu but wo kuch na kuch aisa kar deti thi jisse hamesha uska pyar upar raha, main bahut proud feel karta hun ki is life mein mujhse kisi ne itna pyar kiya jisse main khud bhi pyar karta hun,

lekin bhagwan ko shayad kuch aur hee manjoor tha kyunki kuch mahino baad hee uske ghar wale achanak na jane kahi aur shift ho gaye. shayad hamare relationship ki wajah se hee. Aaj karib 2 saal ho chuke hain. na main Abeda se mil paya hu na baat kar paya hun, main usse pahle bhi itna hee pyar karta tha jitna aaj karta hu aur hamesha karta rahunga bas bhagwan se hamesha pray karta rahunga ki Abeda jahan bhi rahe khush rahe, uske yaad to bahut aati hain lekin fir uske yaado ke sahare apne ko sambhal leta hun.

mana bahut mushkil hain lekin is sahare jeeta hun ki mana aaj meri Abeda meri sath nahi hain lekin is duniya mein ham dono ek sath ,ek dusare ko yaad karte hue sansein le rahe hain. I Love you Abeda, love you till my End…


हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम मनीष हैं, मैं आपको अपनी लव  स्टोरी बताने से पहले एक सवाल पूछना चाहता हूँ कि  क्या कोई हिंदू लड़का किसी मुस्लिम लड़की से प्यार नही कर सकता क्या?

आज मैं अपने रियल लव  स्टोरी आपके साथ शेयर  करना चाहता हूँ, मैं पहले कंप्यूटर क्लासेज जाया करता था वहां मेरी एक लड़की जिसका नाम “आबिदा” था उससे मुलाकात हो गयी वो भी कंप्यूटर क्लास आया करती  थी और वो मुस्लिम थी और मैं हिंदू लेकिन बिना किसी  भेद-भाव के मैने उससे दोस्ती कर ली और हम दोनो अच्छे  फ्रेंड बन गये और एक दूसरे की केयर भी करने लगे,

टाइम बीतता गया और हम एक दूसरे को पसंद करने लगे, फिर पहले मैने एक दिन उसे अपने दिल की बात बताई और पता चला कि  वो भी मुझसे प्यार करने लगी थी आज हमारे रिलेशन्षिप को करीब 5 साल हो चुके हैं और मैं एम बी ए कंप्लीट कर चुका हूँ, हम दोनो (मैं और आबिदा) अलग-अलग रिलिजन के हैं तो प्रॉब्लम्स तो आनी ही थी हमें ये पता था लेकिन फिर भी हमने अपना फ़ैसला  कभी नही बदला क्यूंकि  ना मैं उसके बिना रह सकता हू और ना वो मेरे बिना रह सकती है.

मेरे घर वालो को ये रिलेशन्षिप कभी मंजूर नही होगा ये बात मुझे पता हैं इसलिए मैने अभी तक अपने घर वालो को ये बात नहीं बताई और आबिदा के घर वालो को भी हमारे रिलेशन्षिप के बारे में नहीं पता था. हम दोनो को ये पता है कि  हमारे घर वाले  कभी एक नही हो सकते फिर भी हमने कभी भी ऐसे कोई कोशिश नही की जिससे उन लोगो को हर्ट हो, बहुत से कपल ऐसे कंडीशन में घर से भाग जाते हैं लेकिन हमारा प्यार इतना कमजोर नही कि ऐसी हरकतें कर के अपने प्यार को छोटा साबित करे, वैसे तो हम दोनो को दुनिया से कोई मतलब नही है लेकिन अपने घर वालों से भी हमें प्यार है उनके मान-सम्मान की भी कदर है इसले कभी भी ऐसे हरकत नही की.

लेकिन एक दिन उसके घर वालो को हमारे इस रिलेशन्षिप के बारे में पता चल ही गया और उन्होने मुझे अपने घर बुलाया और दोनो (मुझे और आबिदा) को खूब डांटा और ना मिलने को कहा, उसी दिन मेरा एम बी ए का एग्ज़ॅम भी था फिर भी मैने ज़्यादा इंपॉर्टेन्स उसके घरवालो को दी. उस दिन आबिदा खूब रोई और मेरे आँखों में भी आंसू अपने आप बहने लगे हम दोनो बहुत हेल्पलेस सा महसूस कर रहे थे. मैं चाह कर भी उसके आंसू पोछ नही पाया बहुत बुरा लगा.

मुझे वो प्रॉमिस जो मैने उससे किया था की मैं तुम्हें हमेशा खुश रखूँगा चाहे कुछ भी हो जाए जैसे मानो टूट सा गया हो. वो मेरे लाइफ का सबसे बुरा दिन था, उस दिन के बाद जब हम मिले तो उसे देख कर मेरी आँखो से पता नहीं क्यूँ आँसू झलकने लगे और उसे देख कर बहुत प्यार आया, दया भी, फिर मैने उसे ज़ोर से गले लगा लिया और उसके हाथ चूमने लगा और उससे हाथ जोड़ कर माफी माँगने लगा के आबिदा मुझे प्लीज़ माफ़ कर दो उस दिन चाह कर भी मैं तुम्हें संभाल नही सका, इतने मैं वो भी रोने लगी और मैने उसे फिर गले लगा लिया,

हम दोनो एक दूसरे से इतना प्यार करते थे कि जब मेरे एम बी ए के एग्ज़ॅम चलते थे वो भी मेरे साथ रात रात तक जगा करती थी और बोला करती थी कि जब तुम जाग सकते हो तो फिर तुम्हारे लिए मैं भी जाग सकती हूँ. यहा तक कि हम दोनो हर वो काम एक जैसा करते थे जो एक कामन कपल्स नही कर सकते थे जैसे कि मैं अगर ब्लू कपड़े पहनता तो वो भी उस दिन कुछ ना कुछ ब्लू पहना करती थी माना ये रील लाइफ में देखने को मिलता हैं लेकिन ये मेरे रियल लाइफ में है. कभी-कभी मुझे लगता था कि मैं उसे ज़्यादा प्यार करता हू लेकिन वो कुछ ना कुछ ऐसा कर देती थी जिससे हमेशा उसका प्यार उपर रहा, मैं बहुत प्राउड फील करता हूँ कि इस लाइफ में मुझसे किसी ने इतना प्यार किया जिससे मैं खुद भी प्यार करता हूँ,

लेकिन भगवान को शायद कुछ और ही मंजूर था क्यूंकि  कुछ महीनो बाद ही उसके घर वाले अचानक ना जाने कही और शिफ्ट हो गये. शायद हमारे रिलेशन्षिप की वजह से ही. आज करीब 2 साल हो चुके हैं. ना मैं आबिदा से मिल पाया हू ना बात कर पाया हूँ, मैं उससे पहले भी इतना ही प्यार करता था जितना आज करता हू और हमेशा करता रहूँगा बस भगवान से हमेशा प्रार्थना करता रहूँगा कि आबिदा जहाँ भी रहे खुश रहे, उसके याद तो बहुत आती हैं लेकिन फिर उसकी  यादो के सहारे अपने को संभाल लेता हूँ.

माना बहुत मुश्किल हैं लेकिन इस सहारे जीता हूँ कि माना आज मेरी आबिदा मेरी साथ नही हैं लेकिन इस दुनिया में हम दोनो एक साथ ,एक दूसरे को याद करते हुए साँसें ले रहे हैं. आई लव  यू आबिदा, लव  यू  टिल माई एंड …


(Visited 15,811 times, 6 visits today)
Updated: September 21, 2016 — 11:52 pm
HINDI LOVE STORY © 2014 Frontier Theme