HINDI LOVE STORY

Best Collection of Hindi love Story | हिंदी कहानी | Hindi Story | Stories in Hindi | Hindi Love Stories | Love Stories in Hindi

School Ki real Love story in Hindi


School Ki real Love story in Hindi

Hello friends mera naam Manish hai, main Dehradun mein rahta hun aur Bsc 1st year ka student hun. Aaj main aap logo ke samne apni School Ki real Love story in Hindi share karne ja raha hun.

इस स्टोरी को हिन्दी में पढ़ने के लिए क्लिक करें
Ye baat tabki hai jab main school mein 11th class ka student tha, school mein mere kafi friends the lekin meri koi girlfriend nahin thi kyunki main aksar apna time sirf dosto ko hi diya karta tha.

ek din mujhe mere dost ne mujhe ye baat batai ki 10th class ki ek ladki tujhe like karti hai ye baat mujhe meri friend Radha se pata chali aur maine.
School Ki real Love story in Hindiuski baat ko ignore kar diya kyunki mujhe laga ki wo mujhse mazak kar raha hai,.
aksar main apne class ke friends ke sath interval mein football khela karta tha aur kabhi kabhi main aksar ye baat bhi note kiya karta tha ki kuch girls ka group meri aur dekha karta hai but main jadaya dhayan nahin deta tha aur game mein mast ho jaya karta tha.

ek din achank ek ladki mere paas aayi aur bolne lagi ke aapka naam Manish hai to maine kaha ji haan mera naam manish hai to usne mujhe bola ki apko meri ek friend like karti hai aur apse friendship karna chati hai. main kuch nahin bol paya aur mujhe samajh nahin aa raha tha ki main kya bolu. utne mein mere friends ne mujhe bula liya aur main chala gaya.

agle din bhi wo ladki mere paas aayi aur puchne lagi, to.
apne kya socha? to maine use bola kis bare mein to usne bola ki meri friend ke bare mein, to maine use bola ke koun hai apni friend? mila to do tabhi to bataunga. usne mujhe bola ki kya aap mujhe apna number de sakte ho main apni friend ko de dungi aapka number, to maine saaf mana kar diya aur usne zid ki to maine use apna personal number de hi diya

jab main ghar pahuncha to dekha ki kisi unknown number se mujhe ek msg aaya tha jisme “Hello manish “ likha tha to maine pucha, who are you? To usne mujhe bola ke main apke school main 10th class mein padhti hun aur aapko like karti hun to mujhe samajh nahin aa raha tha ki kya rply du.
maine use jab pucha ki main apko nahin janta even maine to aapko dekha bhi nahin hai to usne mujhe rply kiya ke apne mujhe dekha bhi hai aur mujhse baat bhi ki hai to main soch mein padh gaya ki ye kaisa ho sakta aur mujhe laga ki ye mera hi koi dost hoga jo mere sath mazak kar raha hai.

maine use koi reply nahin kiya to uska msg aaya ki kya hua aap mujhse baat kyun nahin kar rahe ho to maine rply kar diya ke aap koi girl nahin koi boy ho aur mere sath mazak kar rahe ho to usne mujhe call hi kar diya aur hello bol kar call kaat diya ye bol kar ki main ghar mein hun tabhi call nahin kar sakti ab mujhe confirm ho gaya tha ki ye ek ladki hi hai lekin samajh nahin aa raha tha ki isse kya baat karu kyunki meri pahle koi girlfriend nahin thi.

maine is se jab pucha ki tumne aisa kyun bola ki main aapse mil chuka hun aur baat bhi kar chuka hun to usne mujhe jo msg mein reply kiya use padh kar mano ek suspense hi khul gaya ho aur main hairaan rah gaya aur wo msg ye tha ki- “Dear sorry main wahin ladki hun jo apke paas kisi ladki ka purposal lene aayi thi aur isi bahane maine apse number bhi mang liya please gussa mat hona mere paas aur koi chara nahin tha aapse milne ka aur apse baat karne ka aur main apko bahut time se follow kar rahi hun kyunki main apko pasand karti hun”.

Ye jaan kar to jaise mano mere hawaiya si hi ud gayee lekin main usse bahut impress hua aur use bol diya okay thik hai. aaj se ham ache dost hai.
maine usse uska naam pucha aur usne mujhe apna naam Priya bataya aur ham ache dost ban gaye aur ek doosre se msg mein aur call mein bhi baat kiya karne lage. time bitata gaya aur ham ek doosre ko aur jyada samjhane lage aur ek doosre ki care bhi karne lage aur har choti se choti baat ek doosre se share karne lage..

ek din mujhe ye ehsaas hua ke main ab priya se pyar karne laga hun to maine use I love you bol diya to usne mujhe bola ki dear main to aapse pahle se hi pyar karne lagi hun aur bas is hi din ka intezar kar rahi hun ki kab aapko mujhse pyar hoga, aur priya ne mujhe I love you too bol diya aur time batata gaya maine apna 11th complete kar liya.

jese hi usne apna 10th complete kiya usko dehradun chodna pada kyunki uske father government job mein the to unka transfer Lucknow ho gaya aur iseliye.

wo Lucknow mein shift ho gayee lekin abhi bhi hamne ek doosre se baat karna nahin choda aur aaj bhi ham ek doosre se baat karte hai aur aaj bhi ek doosare se utna hi pyar karte hai jitna pahle kiya karte the ye mere life ki.
Ye meri first love story hai jo aaj tak barkaraar hai aur ummeed karta hun ke hamesha barkaraar rahe.

स्कूल की लव स्टोरी


हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम मनीष है, मैं देहरादून में रहता हूँ और बीएससी 1st ईयर का स्टूडेंट हूँ. आज मैं आप लोगो के सामने अपनी स्कूल की रियल लव स्टोरी शेयर करने जा रहा हूँ. ये बात तबकि है जब मैं स्कूल में 11th क्लास का स्टूडेंट था, स्कूल में मेरे काफ़ी फ्रेंड्स थे लेकिन मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी क्यूंकी मैं अक्सर अपना टाइम सिर्फ़ दोस्तो को ही दिया करता था.

एक दिन मुझे मेरे दोस्त ने मुझे ये बात बताई की 10th क्लास की एक लड़की तुझे लाइक करती है ये बात मुझे मेरी फ्रेंड राधा से पता चली और मैने.

उसकी बात को इग्नोर कर दिया क्यूंकी मुझे लगा की वो मुझसे मज़ाक कर रहा है,.
अक्सर मैं अपने क्लास के फ्रेंड्स के साथ इंटर्वल में फुटबॉल खेला करता था और कभी कभी मैं अक्सर ये बात भी नोट किया करता था कि कुछ गर्ल्स का ग्रूप मेरी और देखा करता है लेकिन मैं ज्यादा ध्यान नहीं देता था और खेल में मस्त हो जाया करता था.

एक दिन अचानक एक लड़की मेरे पास आई और बोलने लगी कि आपका नाम मनीष है तो मैने कहा हाँ, मेरा नाम मनीष है तो उसने मुझे बोला कि आपको मेरी एक फ्रेंड लाइक करती है और आपसे फ्रेंडशिप करना चाहती है. मैं कुछ नहीं बोल पाया और मुझे समझ नहीं आ रहा था कि मैं क्या बोलू. उतने में मेरे फ्रेंड्स ने मुझे बुला लिया और मैं चला गया.

अगले दिन भी वो लड़की मेरे पास आई और पूछने लगी, तो अपने क्या सोचा? तो मैने उसे बोला किस बारे में तो उसने बोला की मेरी फ्रेंड के बारे में, तो मैने उसे बोला के कौन है अपनी फ्रेंड? मिला तो दो तभी तो बताऊंगा . उसने मुझे बोला कि क्या आप मुझे अपना नंबर दे सकते हो मैं अपनी फ्रेंड को दे दूँगी आपका नंबर, तो मैने साफ मना कर दिया और उसने ज़िद की तो मैने उसे अपना पर्सनल नंबर दे ही दिया

जब मैं घर पहुँचा तो देखा कि किसी अननोन नंबर से मुझे एक म्स्ग आया था जिसमे “हेलो मनीष “ लिखा था तो मैने पूछा, हूँ आर यू ? तो उसने मुझे बोला के मैं आपके स्कूल मैं 10त क्लास में पढ़ती हूँ और आपको लाइक करती हूँ तो मुझे समझ नहीं आ रहा था की क्या जवाब दूँ .

मैने उसे जब पूछा की मैं आपको नहीं जानता ईवन मैने तो आपको देखा भी नहीं है तो उसने मुझे रिप्लाई किया के अपने मुझे देखा भी है और मुझसे बात भी की है तो मैं सोच में पढ़ गया की ये कैसा हो सकता और मुझे लगा की ये मेरा ही कोई दोस्त होगा जो मेरे साथ मज़ाक कर रहा है.

मैने उसे कोई रिप्लाइ नहीं किया तो उसका म्स्ग आया की क्या हुआ आप मुझसे बात क्यूँ नहीं कर रहे हो तो मैने रिप्लाई कर दिया के आप कोई गर्ल नहीं कोई बॉय हो और मेरे साथ मज़ाक कर रहे हो तो उसने मुझे कॉल ही कर दिया और हेलो बोल कर कॉल काट दिया ये बोल कर कि मैं घर में हूँ तभी कॉल नहीं कर सकती अब मुझे कन्फर्म हो गया था की ये एक लड़की ही है लेकिन समझ नहीं आ रहा था की इससे क्या बात करू क्यूंकी मेरी पहले कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी.

मैने इस से जब पूछा कि तुमने ऐसा क्यूँ बोला की मैं आपसे मिल चुका हूँ और बात भी कर चुका हूँ तो उसने मुझे जो म्स्ग में रिप्लाइ किया उसे पढ़ कर मानो एक सस्पेनस ही खुल गया हो और मैं हैरान रह गया और वो म्स्ग ये था की- “डियर सॉरी मैं वहीं लड़की हूँ जो आपके पास किसी लड़की का प्रोपोजल लेने आई थी और इसी बहाने मैने आपसे नंबर भी माँग लिया प्लीज़ गुस्सा मत होना मेरे पास और कोई चारा नहीं था आपसे मिलने का और आपसे बात करने का और मैं आपको बहुत टाइम से फॉलो कर रही हूँ क्यूंकी मैं आपको पसंद करती हूँ”.

ये जान कर तो जैसे मानो मेरे हवैया सी ही उड़ गयी लेकिन मैं उससे बहुत इंप्रेस हुआ और उसे बोल दिया ओके ठीक है. आज से हम अच्छे दोस्त है.

मैने उससे उसका नाम पूछा और उसने मुझे अपना नाम प्रिया बताया और हम अच्छे दोस्त बन गये और एक दूसरे से म्स्ग में और कॉल में भी बात किया करने लगे. टाइम बीतता गया और हम एक दूसरे को और ज़्यादा समझने लगे और एक दूसरे की केयर भी करने लगे और हर छोटी से छोटी बात एक दूसरे से शेयर करने लगे..

एक दिन मुझे ये एहसास हुआ के मैं अब प्रिया से प्यार करने लगा हूँ तो मैने उसे आई लव यू बोल दिया तो उसने मुझे बोला की डियर मैं तो आपसे पहले से ही प्यार करने लगी हूँ और बस इस ही दिन का इंतेज़ार कर रही हूँ की कब आपको मुझसे प्यार होगा, और प्रिया ने मुझे आई लव यू टू बोल दिया और टाइम बीतता गया मैने अपना 11त कंप्लीट कर लिया.

जेसे ही उसने अपना 10th कंप्लीट किया उसको देहरादून छोड़ना पड़ा क्यूंकी उसके फादर गवर्नमेंट जॉब में थे तो उनका ट्रान्स्फर लखनऊ हो गया और इस लिए वो लखनऊ में शिफ्ट हो गयी लेकिन अभी भी हमने एक दूसरे से बात करना नहीं छोड़ा और आज भी हम एक दूसरे से बात करते है और आज भी एक दूसरे से उतना ही प्यार करते है जितना पहले किया करते थे.

ये मेरी फर्स्ट लव स्टोरी है जो आज तक बरकरार है और उम्मीद करता हूँ के हमेशा बरकरार रहे.


(Visited 35,175 times, 32 visits today)
Updated: January 30, 2016 — 10:46 pm
HINDI LOVE STORY © 2014 Frontier Theme